Pages

मोदीराज लाओ

मोदीराज लाओ
भारत बचाओ

शनिवार, 10 अप्रैल 2010

आज NDTV $ IBN7 ने दिल खुश कर दिया।आज जो इन चैनलों ने किया वो अगर ये हर रोज लगातार करें तो हत्यारों का पता नहीं चलेगा कि कब समाप्त हो गय( गद्दार आतंकवादियों के समर्थक ब्लागर जरूर पढें बरना ताऊमर इस लेख को न पढ़ने पर पछतायेंगे)।

आज पहली बार NDTV $ IBN7 ने अपने चर्चा के कार्यक्रम(9बजे खत्म हुआ) देशहित की मानसिकता से किए।पहले ये चैनल एक देशभक्त को बुलाकर चार-चार गद्दारों से लड़ाते थे अन्त में देशभक्त की ऐसी की तैसी फेरने के लिए इन गद्दारों के साथ एंकर भी देशभक्त पर डूट पड़ता था। आज इसके ठीक विपरीत इन चैनलों ने एक गद्दार (NDTV पर गद्दार हिमांशु $ IBN7 पर गद्दार निलाप ) को बुलाकर उसकी औकात व असलियत जनता के सामने उधेड़ कर रख दी । इस चर्चा में जनरल बख्शी जी ने वो बात कह दी जो हमारी पुस्तक नकली धर्मनिर्पेक्षता का सार है उन्होंने कहा कि देश में एक ऐसा गिरोह बन चुका है जो लगातकार देशहित में लिए गय निर्णयों का विरोध कर देशभक्त लोगों व सैनिकों को हतोतसाहित करने का काम कर रहा है। अगर सैनिक देश के दुशमनों को मार डालते हैं तो कहते हैं क्यों मारा अगर असफल होते हैं तो कहते हैं क्यों नहीं मारा।


अपने देशहित विरोधी बयानों द्वारा हमारी आओं में खटने वाले मनीष तिवारी ने भी आज देशहित की बात कर हमारा मन जीत लिया । उन्होंने गद्दार हिमांसु द्वारा बार-बार माओवादी आतंकवादियों द्वारा की जा रही हिंसा का समर्थन व सुरक्षावलों पर मनघड़ंत आरोप लगाने पर सीधा कहा कि तुम खुलकर वोलो कि तुम आतंकवादियों के प्रवक्त हो ।आज से हम उमीद करेंगे कि सामचार चैनल जब भी चर्चा परिचर्चा आयोजित करें तो अपना नजरिया यही रखें कि आतंकवादियों द्वारा की जा रही हिंसा का समर्थन करने वाले का परिचय आतंकवादियों के प्रवक्ता के रूप में करवाया जाय न कि समाजिक/मानवाधिकार कार्यकरता के रूप में।( दोनों एंकर अभिज्ञान जी व संदीप जी) बधाई के पात्र हैं।

अगर देशहित को ध्यान में रखकर सरकार व चैनल आचरण करें तो हम दावे से कह सकते हैं कि हिंसा प्रति हिंसा मारे जाने वाले गरीब लोगों की शंख्या में अकल्पनीय कमी आयेगी।

जनरल साहब ने ये भी बताया कि इस गिरोह के दुशप्रचार के परिणाम स्वारूप सरकार द्वारा सेना पर लगाय गय अंकुशों से शैनिकों के शहीद होने की शंख्या बहुत अधिक बढ़ गयी है। आज सैनिक जब भी आपरेसन में जाता है तो वह दुविधा में होता है कि क्या करे क्या न करे ।क्योंकि अगर किया तो संदेह जताया जायगा।शहीद भी हो गया तो भी लड़ाई को फर्जी करार दे दिया जायेगा।

ब्लागर जगत में हिमांशु और निलाप जैसे बहुत से आतंकवादियों के समर्थक लगातार सुरक्षावलों को बदनाम करने के लिए उन पर मनघड़ंत आरोप लगा रहे हैं व आतंकवादियों का समर्थन कर रहे हैं उनको हम साबधान करना चाहते हैं कि उनके विरूद्ध कार्यवाही करवाने की बयबस्था हम खुद करेंगे। आज के वाद जो भी आतंकवादियों का समर्थन करेगा वो परिणाम भुक्तेगा। परिणाम इतना भयानक होगा जिसकी गद्दार कल्पना भी नहीं कतर सकते । फिर न कहना मौका नहीं दिया था सुधरने का।

गद्दारो सावधान आगे खतरा है

10 टिप्‍पणियां:

भारतीय नागरिक - Indian Citizen ने कहा…

वाकई में अच्छी पहल...जनरल द्वारा. मनीष जी और बाकी जी तो बस ऐसे ही हैं>..

कमलेश वर्मा ने कहा…

aakhir kar kano par joo rengni shuroo to hui..lage raho ..jai hind

मौसम ने कहा…

आपसे सहमत
फ़िरदौस जी, भी इंसानियत और भारतीय संस्कृति की बात कर रही हैं तो आज उन्हें काफ़िर ही घोषित कर दिया गया है. सलीम खान ने अपने ब्लॉग पर पोस्ट लिखकर फ़िरदौस जी पर गंभीर आरोप लगाये हैं. इस्लाम का प्रचार करने वाले सलीम खान कितने सभ्य (असभ्य या जंगली कहना उचित रहेगा) हैं, आपके बारे में लिखी इनकी पोस्ट देखकर ही पता चल जाता है.
दिमाग़ से पैदल ये कुतर्की भारत को भी तालिबान बनाने पर तुले हुए हैं, जब इन्हें भरतीय संस्कृति से इतनी ही नफ़रत है तो क्यों न यह अरब जाकर ही बस जाए. इस देश को इन जैसे तालिबानियों की ज़रूरत नहीं.

आज फ़िरदौस जी जैसे मुसलमानों की देश को बहुत ज़्यादा ज़रूरत है, साथ ही उनके अभियान को समर्थन देने की, ताकि और देशभक्त लोग आगे आ सकें !!!

HTF ने कहा…

जो लोग शांतिप्रिय अल्हा की सच्ची अनुयायी फिरदौस जी के वारे में इतना कुछ कह सकते हैं वो भला हमें क्या नहीं कहेंगे ।हम पहले ही कह चुके हैं कि औरंगजोब और बाबर की औलादों के लिए पाकिस्तान बनाया गया है ये वेशर्म फिर इसी देश में रहकर गद्दारी करने पर तुले हैं आदमखोर जिहादी अलहा के सैतान जो ठहरे फिर भी अगर आप दोवारा आयें तो बताने की कृपा करें कि BTF वारे में इस तिलिवानी ने कहां लिखा है। फिरदौस जी जैसे हर देसभक्त को हमारा समर्थन है पर गद्दारो को हम ुनके मुकाम तक पहुंचाकर ही दम लेंगे।

yugal mehra ने कहा…

आपका ब्लॉग देखकर जोश आता है

Hindu Bulletin ने कहा…

सुनील दत्त जी, आप बेहतरीन काम कर रहे हैं… शुभकामनाएं… NDTV वगैरह तो दल्ले हैं सत्ता और पैसे के, इनसे कोई उम्मीद न रखियेगा…। जनरल साहब सच कह रहे थे, वही भरोसे के काबिल हैं, बाकी मनीष तिवारी जैसे कांग्रेसी का कोई भरोसा नहीं…

honesty project democracy ने कहा…

Aaj jyadatar uchch samwaidhanik padon par baithe logon ke insan hone ki garanti bhastachar ki wajah se khtm ho chuki hai.BHARASTACHAR AAB PAISA NAHI LOGON KA KHOON CHUSNE LAGA HAI.Aaj desh ko chhote mote gaddaron se khatra nhi hain balki satta ke shikhar par baithe bhrast gaddaron aur looteron se khatra hai jo janta ke paise ko loot kar janta ka hi khoon chusne main pryog kar rahen hain.Aapme josh aur deshbhakti ka jajba hai use desh aur samaj ko in looteron se bachane ke liye ekjut karne ke liye paryog karen.login karen aur aur andolan ka netritw karen-www.hprdindia.org and www.lokrajandolan.org

संजय बेंगाणी ने कहा…

मैने भी यह बहस देखी थी. "मजा" आया...वाकई.

SANJEEV RANA ने कहा…

bahut acche

सुलभ § सतरंगी ने कहा…

Jaruri hai.