Pages

मोदीराज लाओ

मोदीराज लाओ
भारत बचाओ

गुरुवार, 8 अप्रैल 2010

महिलाओं के साथ बलात्कार किये जाते हैं, उनके स्तन काट दिए जाते हैं ...

सबसे पहले इस आरोप को पढिए जो NDTV पर वांमपंथी आतंकवादियों के समर्थकों द्वारा लगाया गया और जिसका एंकर ने समर्थन किया।
(इसी सरकार के आदेश से इन आदिवासियों में से बिना असली नक्सल की पहिचान किये उनकी महिलाओं के साथ बलात्कार किये जाते हैं, उनके स्तन काट दिए जाते हैं और उनके बच्चों की अंगुलियाँ काट दी, छील दी जाती हैं.. और ये सब होता है इस मानसिक रूप से दिवालिया सरकार के आदेशों से, कुछ दुर्दांत अफसरों के कहने पर. परिणामस्वरूप बलि चढ़ती है मासूमों की,)

हम तो कहते हैं कि गृहमन्त्री और अन्य मन्त्रीयों को फांसी पर चढ़ाने की मांग करने वालों को पहले यह सोचना चाहिए कि क्या NDTV जैसे देशविरोधी चैनलों द्वारा माओवादी आतंकवादियों को फायदा पहुंचाने के लिए फैलाए जा रहे इस झूठ को प्रचारित करना कहां तक उचित है।इसमें कोई शक नहीं कि कानून ब्याबस्था के लिए सरकार जिम्मेदार है पर इस तरह के मनघड़ंत आरोप तो हिंसा को बढ़ावा देने के लिए हिंसा फैला रहे वामपंथी आतंकवादियों के कुकर्मों को आगे बढ़ाने वाले ही सिद्ध होंगे ।इस तरह की घटनाओं पर हमारे जैसे छोटे लोगों का आक्रोसित होना स्वाभाविक है पर इसका अर्थ यह नहीं कि हम देशद्रोह पर उतारू हो जायें ।क्योंकि जिस सेना पर यह आरोप लगाय जा रहे हैं ये वो सेना है जिसने कशमीर घाटी में तालिवान से लड़ते वक्त भी मानवाधिकारों का हनन नहीं कि ।यहां तक कि विदेशों में गए इन सैनिकों के न्यायोचित मानवीय ब्याबहार का लोहा अफ्रीकी देशों में भी माना गया ।कारगिल युद्ध के वक्त पाकिस्तान के सैतान सैनिकों द्वारा इस तरह के जैसे यहां लिखे हैं अमानविय अत्याचार करने के वावजूद भारतीय सेना ने एक भी पाकिस्तानी आतंकवादी या सैनिक के साथ कोई अमानवीय ब्याबहार नहीं किया। वो सेना इन मुठीभर चीन समर्थक बांमपंथी आतंकवादियों के विरूद्ध ऐसा घिनौना कार्या कभी नहीं कर सकती ।हां ऐसा हो सकता है कि माओवादी आतंकवादी शांतिप्रिय वनवासियों को भड़काने के लिए उन पर इस तरह के कुकर्म कर आरोप सेना पर लगा दें विलकुल बैले ही जैसे आजकल दो मुसलिम महिलाओं का पाक समर्थक आतंकवादियों ने कत्ल कर सेना पर आरोप लगा दिया कि सैनिकों ने बालात्कार कर इन महिलों का कत्ल किया ।अब यह सिद्ध हो चुका है कि इन महिलाओं के साथ कोई रेप नहीं हुआ वल्कि आतंकवादियों ने ही इनका कत्ल किया था। ये उन लोगों की सेना है जिन्होंने हमेशा अतायचार का जबाब अत्याचार से देने के बजाए उस क्षेत्र को अत्याचिरियों(अफगानीस्थान,पाकिस्तान,बंगलादेश) के हवाले कर दिया है । आज देख लो वहां क्या हाल है।जो हमारे विरूद्ध लड़े थे आज एकदूसरे के विरूद्ध लड़ रहे हैं।

सच में हमें तो हैरानी हो रही है कि जो आरोप ये भारत के शत्रु आतंकवादियों के समर्थक भाजपा पर लगाते थे आज वही आरोप ये लोग अपने लाडले सेकुलर गिरोह की सरकार पर लगा रहे हैं ।जिस सेकुलर गिरोह ने आज तक हर हाल में आतंकवादियों (चाहे वो पाक समर्थक हों या फिर चीन समर्थक) का साथ दिया है ये सोचकर कि आज नहीं तो कल इन गद्दारों को अक्कल आ जोयेगी पर अफशोश इन गद्दारों को अक्कल नहीं आई और जनता ने बुद्धिमतापूर्वक इस सेकुलर गिरोह को अपने पाले गद्दारों का सफाया करने के लिए चुन दिया ।हम तो ये कल्पना करते ही डर जाते हैं कि जो गद्दार कल तक हर हाल में सेकुलर गिरोह का समर्थन करने के लिए भजपा पर हर तरह के आरोप लगा रहे थे आज वो ही गद्दार उसी सेकुलर गिरोह पर वैसे ही आरोप लगा रहे हैं । तभी तो कहा गया है कि कुता पागल होने पर सबसे पहले अपने मालिक को ही काटता है यही आज कांग्रेस के साथ हो रहा है । जो कांग्रेस इन विदेशीयों के टुकड़ों पर पलने वाले दानवाधिकार कतार्यकरताओं मिडीया एनजीओस को हर तरह का सरंक्षण देती रही वही आज उसको बदनाम करने पर तुले हैं वो चाहे वटला हाऊस इंनकाऊंटर का मामला हो या वामपंथी आतंकवादियों का।
अन्त में हम इतना ही कहेंगे कि आज जो भी देशभक्त हैं उन्हें हप हाल में सेना के साथ खड़ा होना चाहिए और माओवाजी आतंकवादियों को कहना चाहिए कि वो लोग अपने हथियार ढाल दें अपने आप को सेना के हवाले कर दें घवराने की कोई बात नहीं क्योंकि जो सरकार अफजल जैसे आतंकवादी को माननीय सर्वोच्च न्यायलय के आदेश के वावजूद वचा सक्ति है वो उनको भी जरूर बचा लेगी लेकिन इसके लिए उन्हें आत्मसमर्पण करना जरूरी है वरना उनको कोई नहीं बचा सकता। जैसे कांग्रेस महासचिव  दिग्विजय सिंह गद्दार सहजाद के घर गए थे उसी तरह मणिसंकर अयर आपके घर आने की त्यारी कर रहे हैं ।बस हथियार छोड़कर सेकुलर गिरोहग का समर्थन करने की खुली घोषणा कतर दो बैसे भी आपने(माओवादी आतंमकवादियों ने) ही स्वामी लक्ष्मी नारायण जी का कत्ल करने के वाद कहा था कि आप धर्मनिर्पेक्ष राजाया बनाना  चताहते हैं तो अब क्या प्रौबलम है बनाओ न धर्मनिर्रपेक्ष राज्य शमशानघाटजाकर या ङथियार डालकर। हमनें मालूम है कि जिन ईसाईयों को बचाने के लिए आपने ये जुल्म अपने सिर लिय़ा था वो हरी आज एक तरफ आपको हथियार दे रहे हैं दूसरी तरफ ...  

9 टिप्‍पणियां:

कमलेश वर्मा ने कहा…

NDTV KE 'DUA'KO APNE BARE ME GUMAN HO GYA HAI KI VO HI AK SATYWADI HAIN .SATH VO JIS CHANNEL KE LIYE DHEENCHOO-DHEENCHOO KARTE HAIN .VO BHI SATY KA THEKEDAR HAI...AISE CHANNEL WALO KO JYADA TWAJJO NAHI DENA CHAHIYE ...JAI HIND

बैरागी ने कहा…

कुत्ता पागल होने पर सबसे पहले अपने मालिक को ही काटता है
ठीक कहा आपने

Mayur Malhar ने कहा…

इस उम्दा प्रस्तुति के लिए बधाई.

akelahoon ने कहा…

टीवी वाले तो ऐसे हे करते हैं. लेख शानदार है. ओर आप बधाई के पात्र है.

aarya ने कहा…

सादर वन्दे!
अरे भैया ये NDTV वाले बिदेशियों के टुकड़ों पर पलने वाले कुत्ते है, और आप तो जानते ही हैं की कुत्ते कितने वफादार होते हैं.
रत्नेश त्रिपाठी

संजय भास्कर ने कहा…

लेख शानदार है

निर्झर'नीर ने कहा…

ek accha lekh .

kripyA ISE BHI DEKHIYE ITS ALSO VERY IMPORTANT

http://kharapani.blogspot.com/2010/04/blog-post.html

murli ने कहा…

सच कहा भाई। एनडीटीवी के बारे में सबको पता है कि उसके मालिक से लेकर संपादक तक सभी देश द्रोही किस्म के लोग हैं। उन्हें इस देश से कोई मतलब नहीं है। एनडीटीवी में सारा पैसा विदेशों का लगा हुआ है, वे क्यों नहीं वहां के बोल ही बोलेंगे....लेकिन हमारा कर्तव्य यह बनता है कि हम जो थोड़ा बहुत लिख पाते हैं, उन्हें उनकी पोल पट्टी जग जाहिर करनी चाहिए। लोगों को जनमानस तैयार करना चाहिए। लोगों को बहिष्कार के लिए तैयार करना चाहिए।

आनंद कुमार

kunwarji's ने कहा…

lage raho....