Pages

मोदीराज लाओ

मोदीराज लाओ
भारत बचाओ

शुक्रवार, 3 दिसंबर 2010

सोनिया गांधी पी जे थोमस पर इतनी मेहरवान कर्यों?




एडवीज एंटोनिया अलवीना माइनो उर्फ सोनिया गांधी बौद्धिक गुलामों द्वारा बनाई गई एक ऐसी पहेली है जिसे हम अच्छी तरह सुलझा चुके हैं कोई कसर वाकी न रह जाए इसलिए कोई भी प्रमाण मिलने पर हम आपके सामने रखते हैं। अभी मामला है CVC की नियुक्ति से सबन्धित पहेली पर । पी जे थोमस के साथ प्रतिसपर्धा में ग्रामीण विकास सचिब राचन्द्रन व एक अन्य हिन्दू अधिकारी थे इन दोनों अधिकारियों की खासियत यह थी कि इन दोनों पर ही किसी भी घाटाले में सामिल होने का कोई आरोप नहीं था लेकिन दोनों की सबसे बड़ी कमजोरी थी इन दोनों का हिन्दू होना।चर्च ने एंटोनिया को भारत में ईसाई हितों वो भी विदेशी इसाईयों के हितों को आगे बढ़ाने के लिए ही भारत में पलांट किया है लेकिन नटवर सिंह जी ने तेल के बदले अनाज घोटाले में जुवान क्या खोली एंटोनिया का भारत के हिन्दूओं पर से विस्वास ही उठ गया है।


आपको याद होगा कि किस तरह तेल के बदले अनाज घाटाले के सामने आने पर नटबर सिंह जी ने ये बताकर सबको हिलाकर रखा दिया था कि इस घोटाले की शूत्रधार तो एंटोनिया है क्यों एंटोनिया ने ही इराक के राष्ट्रपति सदाम हुसैन को पत्र भेजा था जो कि इस घोटाले की शुरूआत थी। इस दिन से एंटोनिया ने मानो कसम उठा ली हो हिन्दूओं को चुन-चुन कर मालदार पदों से हटाकर उन पदों पर अपने सांप्रदाय से सबन्धित इसाईयों को विठाने की।


पी जे थोमस की सबसे बढ़ी खासियत थी उसका ईसाई होना । अन्यथा मनमोहन सिंह जैसा वयक्ति और चाहे कुछ भी करता लेकिन भ्रष्टाचारियों पर नजर रखने वाला भ्रष्टाचारी न चुनता।


आप सभी जानते हैं कि पी जे थोमस की सबसे बढ़ी पहचान है उसके द्वारा अन्जाम दिया गया केरल में पामोलिव तेल आयात घोटाला जिसमें अभी तक पी जे थोमस को आरोपमुक्त नहीं किया गया है । इसके अतिरिक्त 2G spectrum घोटाले में भी पी जे थोमस का नाम आ रहा है। इसी को लेकर माननीय सर्वोचन्यायावल ने भी कड़ी टिप्पणियां की हैं।


ऐसा नहीं कि इस ओर सरकार का ध्यान नहीं गया क्योंकि विपक्ष ने इसी आधार पर पी जे थोमस का विरोध किया था।लेकिन एंटोनिया की गुलाम मनमोहन सरकार क्या करती क्योंकि इस सरकार की आका चोरों व गद्दारों की सरदार एंटोनिया ही एक भ्रष्ट ईसाई को ही इस पद पर देखना चाहती थी।


आपको याद होगा कि किस तरह एंटोनिया ने हिन्दू प्रणव मुखरजी को हटाकर ईसाई एन्टनी को रक्षा मन्त्री बनाया ।तब से लेकर आज तक UPA सरकार लगातार सेना के साथ युद्ध रत है ।


आप सब जानते हैं किस तरह ये UPA सरकार जम्मू कशमीर में आतंकवादियों का साथ देकर सैनिकों का मनोबल तोड़ने की कोशिस कर रही है।


हिन्दू को हटाकर एक ईसाई को रक्षा मन्त्री बनाने के पीछे एंटोनिया का एकमात्र मकसद है रक्षा सौदों में मिलने वाले अरबों-खरबों डालर के कमीशन को डकार जाना ।


एंटोनिया को लगता है कि क्योंकि एंटनी अपने सांम्प्रदाए का है इसलिए एंटोनिया के घोटालों के वारे में वो किसी को नहीं बतायेंगे लेकिन एंटोनिया को याद रखना चाहिए कि एंटनी के अन्दर भी भगवान राम का ही खून बह रहा है कभी न कभी तो अपने रंग में आएगा ही।


आज अगर आप कांग्रेस व UPA सरकार के प्रमुख पदों पर नजर दौड़ायें तो आपको हर जगह गैर हिन्दूओं का बरचसव साफ नजर आएगा वो भी देश में 80% से अधिक हिन्दू जनसंखया होने के बाबजूद।


एंटोनिया आज पूरे जोर से हिन्दू हटाओ अभियान को आगे बड़ा रही है जो आगे चलकर एंटोनिया के खानदान के अन्त का प्रमुख कारण बनेगा।










4 टिप्‍पणियां:

Akhtar Khan Akela ने कहा…

bhaayi sidhi si bat he soniya ji hen or thoms ji he aankhon pr ptti bandh kr srkar chl rhi he . akhtar khan akela kota rajsthan

राहुल पंडित ने कहा…

naam nahi mil raha hai...antonio aur thomas...koi ram prasad thode hi hain jo soniya ji ka prem nahi hoga unse

दीर्घतमा ने कहा…

सुनील दत्त जी नमस्ते
सायद आपको जानकारी होगी ही लगभग तीन महिना पहले एक ब्रिटिस मिशनरी जो कोलकाता में चंगाई सभा के मध्याम से हजारो हिन्दुओ क़ा धर्मान्तरण कराने की योजना बनायीं थी यह इन्टरनेट के माध्यम से जानकारी हुई जिसका जोर-सोर से प्रचार किया जा रहा था ,कुछ वकीलों को जब यह पता कि टुरिष्ट वीषा पर आनेवाला चंगाई सभा नही कर सकता, जब ये अदालत में मामला गाया तो पता चला की सैनिक सेंटर में कार्यक्रम होगा, जिसकी अनुमति सैनिक अधिकारियो को नही थी, पता चला कि ये अनुमति रक्षा मंत्रालय द्वारा दी गयी थी , कोलकाता के दुद्धिजिवियो के जागरूकता के चलते ही धर्मान्तरण नही हो साका ---हम यह समझ सकते है कि कैथोलिक सोनिया के इशारे पर एंटोनी ही नही ईशाई लावी क्या और क्यों कर रही है ?
आपके पोस्ट के माध्यम से बहुत अच्छी जानकारी समाज को हो रही है ---बहुत-बहुत धन्यवाद.

त्यागी ने कहा…

baat ek dam sahi hai
www.parshuram27@blogspot.com