Pages

मोदीराज लाओ

मोदीराज लाओ
भारत बचाओ

मंगलवार, 18 जून 2013

हिन्दूओ ऐसे ही सड़ोगे अगर सैकुलर गद्दारों का साथ दोगे तो...सन्दर्भ केदारनाथ में भारी तबाही


मित्रो केदारनाथ में हुई भारी तबाही पर जितनी भी संवेदना प्रकट की जाए कम है भगवान भोले शंकर इस तबाही में मारे गए बच्चों, महिलाओं, सैनिकों, सिपाहियों की आत्मा को शांति प्रदान करे व उनके परिजनों को इस सदमे को सहने की ताकत प्रदान करे...
मित्रो आप और हम सब जानते हैं कि पिछले दिनों कुछ हिन्दू संगठनों ने गंगोत्री और उसके आसपास व उपर के क्षेत्र में की जा रही छेडछाड़ के विरूद्ध जोरदार अभियान चलाया था लेकिन हिन्दू समाज का प्रयाप्त समर्थन न मिल पाने के कारण वो अन्दोलन अपनेआप समाप्त हो गया क्योंकि आज का हिन्दू हर बात को मनोरंजन मानकर उसकी गम्मभीरता को समझने में असमर्थ हो चुका है परिणामस्वारूप हिन्दूहित में खड़ा किया गया कोई भी अनदोलन सिरे नहीं चढ़ पा रहा है परिणाम सबके सामने है ..बताया जा रहा है कि कदारनाथ जी के उपर बने गांधी बांध से इतनी बड़ी बाढ़ आई जो हर चीज को दफनाती व बहाती चली गई ...और ये बाँध प्रकृति के साथ छेड़-छाड़ का ही परिणाम है...
मित्रो आप सबको जानकारी है कि किस तरह ये सेकुलर सरकारें सांप्रदायिक अलगाववाद और आतंकवाद की जड़ मक्का मदीना के लिए हिन्दूओं द्वारा खून पसीने से कमाई गई कमाई को पानी की तरह बहाती हैं लेकिन आज ये सेकुलर सरकारें तब भी हिन्दूओं की सहायता करने को त्यार नहीं जब इन्हीं सरकारों द्वारा प्रकृति से की गई छेड़छाड़ के परिमामस्वारूप हिन्दू अपने आस्था के केन्द्रो पर ही मरने और मर कर सड़ने को मजबूर है...मित्रो हमारी सेना के पास ऐसे ऐसे जहाज और हैलीकपटर हैं जो ऐसे क्षेत्रो व आपदाओं के लिए ही खरीदे गए हैं लेकिन सेना उनका उपयोग युद्धसतर पर तब तक नहीं कर सकती जबतक केन्द्र सरकार उसको ऐसा करने के लिए न कहे...मित्रो जिस आपदा में हजारों लोगों के शब जगह-जगह बिखरे पड़े हों और लाखों लोग भूखे आपदा का कहर झेलते हुए मरने को मजबर हों उससे बड़ा युद्ध क्या हो सकता है...लगता है सरकार इन हिन्दूओं को साँप्रदायिक मानकर इनकी कोई सहायता नहीं कर रही है...
मित्रो आपको याद होगा कि बटला हाऊस मुढभेड़ में मारे गए इसालमिक आतंकवादियों के लिए सोनिया गाँधी उर्फ एडवीज एंटोनिया अलवीना माईनो सारी रात फूट-फूट कर रोई थी और हिथ्रो हबाई अड्डे पर बम बिस्फोट करने वाले इसलामिक आतंकवादी के लिए इसके गुलाम मनमोहन सिंह को सारी रात नींद नहीं आई लेकिन तीन दिनों से पड़ी हिन्दूओं की इन हजारों लाशों  व तडप-तड़प कर सहायता के लिए चिल्ला रहे लाखों हिन्दूओं के लिए इन कातिलों के मन में कोई दया नहीं क्यों क्योंकि हिन्दूओं को मरवाना ही तो इनका असल मकसद है...चाहे वो इस तरह हो या फिर उस तरह आतंकवादियों की सहायता करके हो ...
मित्रो हमें याद है कि कुछ वर्ष पहले इसलामिक आतंकवादियों पर ऐसी ही विपदा आई थी जब आतंकवादियों के गढ़ POK और उसके साथ लगते कशमीरघाटी के कुछ इलाकों में भारी भूकम्प में हजारों आतंकवादियों के मारे जाने का खतरा पैदा हो गया था तब इस भारतविरोधी हिन्दूविरोधी सरकार ने अपनी सारी ताकत  लगाकर उन इसलामिक आतंकवादियों की मदद न केवल कशमीर घाटी वल्कि POK में भी की थी यहां तक कि उतर भारत के कई राज्यों के कर्मचारियों का एक दिन का बेतन तक जबरदस्ती काटकर उन आतंकवादियों की रक्षा के लिए दे दिया गया था और ये सारी सहायता रातों रात की गई थी लेकिन आज जब हमारे हिन्दू भाई हमारे ही देश में सहायता के लिए तड़प रहे हैं तो मित्रो ये हिन्दूविरोधी सरकार हिन्दूओं की पीड़ा तक को सुनने के लिए त्यार तक नहीं सहायता तो दूर की बात है...
·        मित्रो हिन्दूओं की इस लाचारी को देखकर मन भारी हो जाता है लेकिन जब हिन्दूओं की हिन्दूओं से जुड़े मुद्दों के प्रति उदासीनता देखते हैं तो लगता है कि हमारी सब समस्याओं के लिए हमारी अपनी ही बौद्धिक गुलामों वाली सोच जिम्मेदार है हर वक्त हम लोग हमारे भाई बहनों का हक छीन कर गैर हिन्दूओं के हबाले करने वालों का साथ देने की मानसिकता, हमारी गऊ माता का सरेआम कत्ल करने वालों व उनका समर्थन करने वालों के प्रति हमारे ही हिन्दूओं की सहनशीलता, अपनी धार्मिक यात्राओं को अंग्रेजी सटाईल पिकनिक में बदलने की मानसिकता, अपने ही आस्था के कन्द्रों पर जाकर अपबित्रता फैलानी की मानसिकता, हमारे लिए अबाज उठा रहे हिन्दूओं हिन्दू संगठनों के प्रति हमारी शंका , कुल मिलाकर हिन्दूों की पीढ़ा से सबन्धित जानकारी पढ़ने जानने पर भी उसके प्रति शंका और उदासीनता का भाव...
·        आओ मित्रो अभी भी वक्त है कि हम पूरी तरह से आंखें बन्द कर अपने भगवान पर भरोसा करते हुए एक भव्य हिन्दू राष्ट्र के लिए हर तरह से हिन्दू संगठनों के साथ संगठित होकर निरंतर प्रयत्न करें और किसी भी हिन्दू भाई-बहन की पीढ़ा को अपनी पीढ़ा मानते हुए किसी भी हिन्दू पर हुए हमले को अपने पर हुए हमले की तरह प्रतिक्रिया करते हुए...अपने रक्षा क्वच गऊ माता की सुरक्षा को सुनिश्चित करते हुए अपनी व अपने बच्चों की सुरक्षा सुनिश्चित करें
·        अन्त में हम इतना ही ही कहेंगे कि सेकुलर गद्दारों को जाने अनजाने साथ देना वो पाप है जिससे हम कोई भी पुन्य करके उऋण नहीं हो सकते इसलिए सबएकजुट होकर सनातन को मिटाने पर तुले सेकुलर गद्दारों को हर मोर्चे पर हराकर अपने कर्तव्य का पालन करें...श्रीमद भगवत गीता में भगवान श्रीकृष्ण जी ने खुद कहा है कि धर्म उनकी रक्षा करता है जो धर्म के अनुशार आचरण करते हैं और ...
  

2 टिप्‍पणियां:

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

प्रभावी !!!
शुभकामना
आर्यावर्त

kunwarji's ने कहा…

हमेशा की तरह हिन्दू-हृदय पीड़ा को समझने-समझाने वाले लेख! मगर अफ़सोस के साथ यही कहना पड़ेगा कि
स्व-हित भी हमें और दिखाई देते है,
जो भंवर है वही ठौर दिखाई देते है!
कुँवर जी,