Pages

मोदीराज लाओ

मोदीराज लाओ
भारत बचाओ

मंगलवार, 20 सितंबर 2011

कानून मन्त्री द्वारा आतंकवादियों के समर्थन में हाथ उठाना कितना जायज?

जो मुसलिम आतंकवाद भारत को लहूलुहान कर अफगानीस्थान(9वीं शताब्दी) पाकिस्तान ,बंगलादेश जैसे हिस्सों में विभाजित कर चुका है और अब फिर भारत को विभाजित करने के लिए लगातार लहुलुहान कर रहा है उसी मुसलिम आतंकवाद को इजरायल के विरूद्ध बढ़ाबा देने के लिए भारत के कानून मन्त्री द्वारा हाथ उठाना कितना जायज है?Khursheed
जब भारत सेकुलर देश है तो एक सांप्रदायिक देश के निर्माण के लिए हाथ उठाना वो भी अन्य सांप्रदायिक देशों के साथ, क्या देश से गद्दारी करने से कुछ कम कहा जा सकता है?
क्या ये भारत की धरती का मुसलिम आतंकवाद को बढ़ाबा देने के लिए दुरूपयोग नहीं?
जरा सोचो जो मुसलिम आतंकवाद हिन्दूमिटाओ-हिन्दूभगाओ अभियान चलाकर अकेले कशमीरघाटी में ही भारत के 60000 निर्दोष नागरिकों का खून बहा चुका है व पांच लाख से अधिक को वेघर कर चुका है और देशभर मे  आए दिन हिन्दूबहुल क्षेत्रों में हमले कर भारत को लहूलुहान कर रहा है उस आतंकवाद के साथ जब भारतविरोधी केन्द्र सरकार खुद खड़ी हो तो भला  इस आतंकवाद को रोकेगा कौन?
मुसलिम आतंकवाद समर्थक ऐसी सरकार को हम देशविरोधी-हिन्दूविरोधी नहीं कहेंगे तो क्या कहेंगे?

2 टिप्‍पणियां:

बेनामी ने कहा…

cong to sudhregi nahi or ye katua to bilul nahi sudhrega .. pahle bhi pakistani ko bharat me 1947 se pahleki sampatti dilbachuka hai or ab apni jaat dikha raha hai......

narender singh ने कहा…

bilkul sahi