Pages

मोदीराज लाओ

मोदीराज लाओ
भारत बचाओ

मंगलवार, 11 मई 2010

भारतीय संसकृति व सुरक्षा बलों पर हमला करने वाले बाबर और औरंगजेब के बंसजों के नाम खुला संदेश


आप जानते हैं कि हम सुरक्षा बलों व भारतीय संसकृति और सभ्यता के आस्था के केन्द्रों का अपमान करने वाले किसी भी ब्यक्ति को पसंद नहीं करते उन्हीं में से आप हैं ।जिस दिन हमने आपके भगवान राम- माता शीता व सुरक्षाबलों का अपमान करने वाले लेख पढ़े उस दिन मन में आया कि कुछ दिन के लिए हम भी आप जैसे तरीके अपनाकर आपके आस्था के कन्द्रों पर प्रहार करें लेकिन बहुत जल्दी हमें समझ में आ गया कि हम उस सतर तक नहीं गिर सकते जिस सतर पर जाकर आपके आस्था के केन्द्रों का अपमान किया जा सके। अगर हम उस सतर तक गिर भी जाते तो भी हमें हिन्दूओं का उस तरह समर्थन नहीं मिलता जिस तरह आपको आप जैसे मुसलमानों व सेकुलर हिन्दूओं का मिलता है। आप हमें कुछ कहते न कहते ये सेकुलर हिन्दू ही हमारी जान के पीछे हाथ धो कर पड़ जाते क्योंकि इन सेकुलर हिन्दूओं ने भारत से मानबता की आधार भारतीय संस्कृति को जड़ से मिटाने की कशम जो उठा रखी है उपर से आप ठहरे अल्पसंख्यक आपको बहुसंख्यकों बोले तो हिन्दूओं पर हर तरह से हमला कर उन्हें जलील करने के सब अधिकार सेकुलर गिरोह की हिन्दूविरोधी-देशविरोधी सरकार देती है ।


आप लोगों ने अकेले कशमीर घाटी में 600000 हिन्दूओं का कत्ल कर 500000 हिन्दूओं को वेघर कर दिया जो आज दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं वो भी देश में 80% से अधिक हिन्दू होने के बाबजूद।आपने दो-दो महीने तक के बच्चों तक को हलाल कर दिया। हमने क्या कर लिया आपका कुछ नहीं। अगर हम कशमीर मे हुए हिन्दूओं के कत्ल की बात भी करते हैं तो हमें सांप्रदायिक कहकर गाली निकाली जाती है।ज्यादा वोलने पर हमारे सिर मुसलिम आतंकवादियों द्वारा किए गए हमलों का जुर्म डालकर जेल में डाल दिया जाता है। कोइ हमारे मनाबाधिकारों की बात नहीं करता कोई नहीं कहता कि कशमीर में क्योंकि मुसलिम आतंकवादियों के समर्थकों की सरकार है इसलिए हिन्दूओं की हत्याओं से जुड़े मामलों की सुनवाई कशमीर से बाहर की जानी चाहिए। जम्मू कशमीर में हिन्दूओं को निशाना बना कर किए गय बम हमलों के दोषियों को निचली अदालतों द्वारा छोड़ दिया जाता है कोई मानबधिकार कार्याकर्ता उन फैसलों के विरूद्ध आबाज तक नहीं उठाता क्योंकि हिन्दुओं की कोई ऐसी संस्थ नहीं जो उनकी जेबें भर सके । उठाये भी क्यों आपको हिन्दूओं पर हमला करने का हर अधिकार जो प्राप्त है।


दूसरी तरफ आप देखो गुजरात में 58 हिन्दूओं को डिब्बे में जिन्दा जला देते हैं संसद चल रही होती है एक स्वर में हिन्दूओं पर हुए हमले की निंदा करने के बजाए कह दिया जाता है कि हिन्दूओं को मर्यादापुर्षोतम भगवान श्री राम के जन्म स्थल अयोध्या नहीं जान चाहिए था। क्योंकि वो धार्मिक यात्रा पर गए इसलिए मुसलमानों ने उन्हें जलाया ।परिणामस्वारूप हिन्दू गुस्से में पागल होकर प्रदर्शन करते हैं जिनपर पहले से त्यार बैठे मुसलमानों द्वारा हमला बोल दिया जाता है परिणामस्वारूप लगभग 900 मुसलमान और 600 हिन्दू मारे जाते हैं। आज तक आप का मददगार सेकुलर गिरोह मिडीया चैनलों सहित हिन्दूओं पर हमला वोले हुए हैं बार-बार सिर्फ मुसलामानों के कत्ल की जांच की मांग उठाकर मारे गए हिन्दूओं की बात न कर हिन्दुंओं की छाती पर लगातार मूंग दला जाता है वो भी तब जब ये कहकर कि गुजरात में क्योंकि हिन्दूओं के प्रति समर्पित सरकार है इसलिए सब मामलों की जांच मुसलिम आतंकवादियों के समर्थक सेकुलर गिरोह शासित राजय में होनी चाहिए। मुद्दे की चर्मसीमा देखिय कि ये मांग मान ली जाती है मामले गुजरात से बाहर ले जाए चुके हैं फिर SIT बनाई जाती है फिर उस पर प्रश्न खड़े किए जाते हैं उसके अधिकारियों को हटा दिया जाता है क्योंकि उनके पास मुसलिम आतंकवाद समर्थक सर्टीफिकेट नहीं था । फिर देखिए सेकुलर गिरोह द्वारा माननीय सर्वोचन्यायालय द्वारा बनाये गय आयोग को नजरअंदाज कर एक मुसलिम आतंकवाद समर्थक आयोग बनाकर मुसलमानों द्वारा जलाए गए हिन्दूओं के लिए हिन्दूओं को ही दोषी करार दिलबा दिया जाता है।


बताओ हमने किसी का क्या कर लिया करें भी तो किसके बल पर। आप देख रहे हैं कि किस तरह कशमीर से गुजरात तक मुसलिम आतंकवादियों से लोहा लेने वाले सुरक्षाबलों के जबानों को पुरस्कार के रूप में में जेलों डालकर यातनायें दी जा रही हैं। अब आप बताओ कि जब मुसलिम आतंकवादियों को मारने वाले जवान ही इस भारत में सुरक्षित नहीं तो फिर हम आपका क्या कर लेंगे ।


आप जो चाहें सो करें हम आपका कुछ नहीं विगाड़ सकते क्योंकि हर सेकुलर हिन्दू भारत को मिटाने के इस प्रयास में आपके साथ है लगे रहिए तब तक जब तक ये हिन्दूस्थान एक और पाकिस्तान या अफगानीस्थान नहीं बन जाता।














9 टिप्‍पणियां:

फ़िरदौस ख़ान ने कहा…

अतीत में जो हुआ, उसे बदला तो नहीं जा सकता, लेकिन उससे सबक़ ज़रूर लिया जा सकता है... जिस दिन लोग किसी भी समस्या को 'मज़हब के चश्मे' से देखना बंद कर देंगे, यक़ीनन उसी दिन से हालात बेहतर होने शुरू हो जाएंगे...

aarya ने कहा…

सादर वन्दे!
लाजबाब! हम करें क्या हमारा जमीर जागता नहीं, और उनके पास जमीर नाम की चीज होती नहीं.
रत्नेश त्रिपाठी

kunwarji's ने कहा…

"सेकुलर हिन्दू" #@$%^&^$

अरे साहब किसी को चस्का वोटो का किसी को चस्का स्पोटो का!

कोई झूठी वाहावाही का मारा हुआ है,किसी को चस्का नोटों का,

कुंवर जी,

सुनील दत्त ने कहा…

फिरदौस जी दुख तो इसी बात का है कि हिन्दूओं ने आज तक हर हमले को हिन्दूओं पर हमला मानने के बजाए मानबता पर हमला मानकर किसी सांप्रदाय के विरूद्ध खड़ा होने के बजाए अधर्म के विरूद्ध खड़े होने को महत्व दिया जिसका परिणाम ये हुआ कि हिन्दू अपगानीस्थान,पाकिस्तान,बंगलादेश और तो और कशमीर घाटी तक से खदेड़ दिए गए.सब हम सहन कर गए लेकि हद तो तब हो रही है जब ये जानबर भारत के इस हिस्से में भी भारतीय संस्कृति और सुरक्षाबलों पर हमला बोल कर फिर बारत को लहुलुहान करने पर तुले हैं बताओ क्या करें
कुछ नहीं कर सकते

kunwarji's ने कहा…

फिरदौस जी ने बिलकुल सही बात कही है जी,अतीत को बदला नहीं जा सकता पर उस से सीख तो ली ही जा सकती है!अब ये हमारे संस्कार होंगे कि हम क्या और कैसी सीख ले रहे है!

कुंवर जी,

सुनील दत्त ने कहा…

कुंबर जी समस्या तो यही है कि ये सेकुलर हिन्दू कोई सीख लेने को त्यार नहीं उल्टा अपनी मूर्खताओं को आगे बढ़ाकर खुद अपनी कबर खोद रहे हैं

vedvyathit ने कहा…

aap ke sval v jbab dono stik hain pr ab kya krna hai bat to yh hai pani sir se upr ja rha hai milte hain bndhu
dr. ved vyathit

VICHAAR SHOONYA ने कहा…

Dutt sahab jab tak aap jaise jagruk log apana karya karte rahenge hamara pavitra Bharatvarsh kabhi bhi pakistan ya afganistan nahin ban payega. vaise bhi unke din ab jyada nahin bache hain.

बेनामी ने कहा…

Hеy! Τhіs іs my first viѕit to youг blog!
Wе aгe a team of volunteers and starting a
nеw initiative in a community in the same
niche. Υouг blog рrοviԁed us useful informatіοn to woгκ on.
You haѵe dоnе a eхtraorԁinагy job!


Have a loοk at my site 2Applyforcash.Com
Also see my website - Payday Loans Online